मूक विस्मित! - एक मूक और एक प्रतियोगिता

सी पी रविकुमार 

टेक्सास इंस्ट्रूमेंट्स 

"मूक विस्मित" का अर्थ है आश्चर्य से मूक (गूंगा) हो जाना। आज कल मूक नाम का एक और सिलसिला चल पड़ा है जिसने मुझे मूक-विस्मित कर दिया है! MOOC यानि Massive Open Online Course! इसका अर्थ है कि एक मुक्त विश्वविद्यालय की कक्षा जिसमे विश्व के किसी भी कोने में बसा कोई भी विद्यार्थी भाग ले सकता है! जब हम आम तौर पर  विश्वविद्यालय की बात करते हैं तो हमारी कल्पना में क्या आता है? कुछ इमारतें, कुछ अध्यापक, कुछ विद्यार्थियों का समूह, कुछ कक्षायें जहां ब्लैक बोर्ड पर कोई अध्यापक पढ़ा रहें हैं। रवींद्रनाथ टैगोर ने शांतिनिकेतन जैसे मुइन क्त विद्यालय की कल्पना की। टैगोर की गीतांजली में एक गीत है जिसमे कवि प्रार्थना करता है कि उसका देश एक ऐसे स्वर्ग में आँख खोले जिसमे संसार छोटे छोटे हिस्सों में न बंटा हो। धर्म, जाति, भाषा इत्यादि दीवारों ने सचमुच हमारे संसार को छोटे हिस्सो में बाँट दिया है। इस विभागीकरण के सिलसिले में विश्वविद्यालय कहाँ बच सकते थे? नज़र आता है कि आज कई विश्वविद्यालय रीजनल (क्षेत्रीय) बन गये हैं। 

 

इं टरनेट टेक्नालाजी के कारण मुक्त विद्यालय की कल्पना को फिर एक अवसर प्राप्त हुआ है। आज यह मुमकिन है कि अध्यापक विश्व के किसी एक कोने में हो और विद्यार्थी किसी और कोने में! यूट्यूब में न जाने कितने विडियो लेक्चर पहले ही प्राप्त हो चुके हैं। इन व्याख्यानों को लाखो विद्यार्थी देख कर उनका लाभ उठा रहें हैं। एक तरह से देखा जाये तो यह आधुनिक द्रोणाचार्य और एकलव्य की कहानी है। अगर एकलव्य को दोणाचार्य के पढ़ाये हुये पाठ उसी समय मिल जाते तो कैसे रहता? उसे कुछ प्रश्न पूछने हों तो वह इंटरनेट टेक्नालाजी के ज़रिये भेज सकता और उसका समाधान उसे कुछ ही घंटों में मिल जाता तो? 

मूक एक ऐसी परिकल्पना है जिसमे अभिनव एकलव्य अभिनव द्रोणाचार्य से अपने घर में बैठे ही शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। अनेक संस्थायें आज मूक टेक्नालाजी के ज़रिये लाखों विद्यार्थियों को एक ही कक्षा में शामिल करने का साहस कर रही हैं! 

 

टेक्सास इंस्ट्रूमेंट्स के विश्वविद्यालय संबंध विभाग ने edX नाम की संस्था से जुड़ कर एक मूक का ऐलान किया है जिस के मुख्य अंश यह हैं -

 

  • कोर्स का नाम - UT6.01x: Embedded Systems - Shape the World
  • कोर्स की अवधि - १५ हफ्ते 
  • कोर्स को पढ़ाने वाले अध्यापक - यूनिवर्सिटी आफ टेक्सास (आस्टिन) के प्रो। जॉनाथन वाल्वानो और रमेश येर्राबल्ली 
  • कोर्स कब आरंभ होगा? - जनवरी २४, २०१४ 
  • हफ्ते में कितने घंटो की पढ़ाई की ज़रुरत पड़ेगी? - कम से कम १० घंटे 
  • यह कोर्स किस के लिये है? - इंजीनियरिंग में रुचि रखने वाले सभी इस कोर्स से फ़ायदा उठा सकते हैं 
  • कोर्स के लिये कुछ पूर्व सिद्धता की ज़रुरत है? - हां, आप को किताब और लैब किट की ज़रुरत पड़ेगी और C प्रोग्रामिंग,  Digital Design, व Computer Architecture कोर्स का पूर्व अध्ययन आप के लिये आवशक रहेगा। एक अच्छा इंटरनेट कनेक्शन आपको ज़रूर चाहिये। 
  • कोर्स में भाग कैसे लें? - निम्न वेब पन्ने पर आप अपना नाम दर्ज़ करा सकते हैं - https://www.edx.org/course/utaustinx/utaustinx-ut-6-01x-embedded-systems-1172
  • क्या मुझे कोई सर्टिफिकेट मिलेगा? - अगर आप शुल्क दे कर इस कोर्स को पूरी तरह से समाप्त करते हैं तो आपको सर्टिफिकेट मिल सकता है, जिसे आप अपने इंटरव्यू के समय उपयोग कर सकते हैं। अगर आप कोर्स को निश्शुल्क (फ्री!) लेतें हैं तो सर्टिफिकेट नहीं मिल सकता। 
  • कोर्स का इंटरनेट पर वेब पन्ना - http://users.ece.utexas.edu/~valvano/edX/
  • कोर्स की शैली - न केवल लेक्चर बल्कि सृजनशील -  TM4C123 TIVA लांच पैड को इस्तेमाल करते हुये विद्यार्थी अपने घर में ही एक लैब का एहसास पा सकते हैं (है न अभिनव एकलव्य?!) 
  • घरेलू लैब के लिये क्या चाहिये और उसे कैसे खरीद सकते हैं - इस की जानकारी के लिये यह वेब पन्ना पढ़ें 
  • कोर्स के लिये किताब - प्रो। वाल्वानो की लिखी Introduction to Embedded Systems - Vol I (इस किताब की ई-बुक निश्शुल्क लब्ध है।) 

भारत से जो इस कोर्स में शामिल होंगे उसके लिये एक विशेष सूचना!

हम चाहते हैं कि इस कोर्स में भारत से बहुत लोग शामिल हों और इस अवसर का फ़ायदा उठायें! इसके लिये हमने इस प्रतियोगिता का ऐलान किया है -

  • पहले ऊपर बताये गये वेब पैन पर मूक में अपना नाम दर्ज़ करायें।
  • उसके बाद इस वेब पन्ने पर आप अपना नाम दर्ज़ करायें - http://bit.ly/tiva-mooc
  • अपने मित्रों को इस कोर्स में दर्ज़ कराने के लिये प्रोत्साहित करें|
  • वेब पन्ने पर दर्ज़ कराने वाले सभी विद्यार्थी ज़रुर लिखेंगे कि किस के प्रोत्साहन से वे इस कोर्स में भाग ले रहें हैं| 
  • यह काम आप जनवरी १२, सायं पांच बजे भारतीय समय से पहले पूरा करें| 

जिस व्यक्ति के कारण भारत से अत्यधिक लोग इस मूक में भाग लेंगे उसे हम पुरस्कार में देंगे - टीवा लांच पैड जिसकी  आपको इस मूक कोर्स में आवशकता पड़ेगी! पुरस्कार की घोषणा हैम जनवरी १९ को करेंगे। ऐसे पांच पुरस्कार हम देने के लिये तैयार हैं! जीत कर मूक-विस्मित होने की बारी आपकी है! 

 

  • प्रतियोगिता का वेब पन्ना है - http://bit.ly/tiva-mooc

  • एक विद्यरार्थी ने मुझे प्रश्न भेजा है कि यह प्रतियोगिता किस प्रकार काम करती है।  

    पहला काम - आप को मूक में अपना नाम दर्ज़ कराना है।

    दूसरा काम - आप को प्रतियोगिता के वेब पन्ने में अपना नाम दर्ज़ कराना है।

    तीसरा काम - अपने मित्रों से भी पहला और दूसरा काम कराना है - आपके मित्र प्रतियोगिता के पन्ने पर यह लिखेंगे कि आप के प्रोत्साहन से उनको मूक के बारे में जानकारी मिली

    ये काम करने के लिए आप को जनवरी १२, ५.०० बजे सायं भारतीय समय तक अवकाश मिलेगा। आशा है अब प्रतियोगिता के बारे में आप को यह सफाई मददगार रही।

    सी पी रविकुमार